You are currently viewing शहीद-ए-आजम भगत सिंह को भारत रत्न का सम्मान दे मोदी सरकार : गुरदीप सैनी , शिव सेना ने मनाया शहीद भगत सिंह का जन्म दिन

शहीद-ए-आजम भगत सिंह को भारत रत्न का सम्मान दे मोदी सरकार : गुरदीप सैनी , शिव सेना ने मनाया शहीद भगत सिंह का जन्म दिन

फगवाड़ा 28 सितंबर 
शिव सेना (बाल ठाकरे) द्वारा हर साल की तरह शहीद-ए-आजम स. भगत सिंह का जन्म दिन हर्षोल्लास  के साथ मनाया गया। सिटी प्रधान रमन शर्मा की अगवाई में आयोजित समागम के दौरान वरिष्ठ प्रदेश उपाध्यक्ष राजिन्द्र बिल्ला, प्रदेश महासचिव गुरदीप सैनी व सिटी यूथ प्रधान हैरी सहित समूह शिव सैनिकों ने शहीद की तस्वीर पर माल्यार्पण किया। इस दौरान गुरदीप सैनी ने कहा कि भगत सिंह ने मात्र 23 साल की आयु में अपना जीवन इस देश के लिए बलिदान कर दिया। उन जैसे महान क्रांतिकारियों ने भारत को आजाद करवाने में प्रमुख भूमिका निभाई लेकिन स्वतंत्रता के बाद किसी भी सरकार ने भगत सिंह और उन जैसे अन्य महान शहीदों को बनता सम्मान नहीं दिया। गुरदीप सैनी तथा सिटी प्रधान रमन शर्मा ने केन्द्र की मोदी सरकार से मांग कर कहा कि भगत सिंह व उनके जैसे अन्य शहीद क्रान्तिकारियों को देश के सर्वोच्च पुरस्कार भारत रत्न से सम्मानित किया जाए। शिव सेना नेताओं ने कहा भारत की आजादी के लिए फांसी का फंदा चूमने वाले क्रान्तिकारी बेशक किसी पुरस्कार के मोहताज नहीं है लेकिन यह उनके प्रति देश की कृतिज्ञता होगी और ऐसा करने से भारत रत्न का ही सम्मान बढ़ेगा। सिटी प्रधान रमन शर्मा ने युवाओं से पुरजोर अपील कर कहा कि वे नशों को पूरी तरह त्याग दें तो यही शहीद भगत सिंह को उनकी सबसे बड़ी श्रद्धांजलि होगी।